Begin typing your search...

190 दिन में 5530 किलोमीटर की अतुल्य गंगा परिक्रमा पदयात्रा का आज हुआ समापन

190 दिन में 5530 किलोमीटर की अतुल्य गंगा परिक्रमा पदयात्रा का आज हुआ समापन
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

शशांक मिश्रा: गंगा को निर्मल बनाने में लोगो की जागरूकता व सहभागिता बढ़ाने के लिए प्रयागराज से 16 दिसम्बर, 2020 को प्रयागराज से गंगोत्री व गंगोत्री से प्रयागराज के लिए शुरू की गयी अतुल्य गंगा परिक्रमा पदयात्रा 23 जून, 2021 को 190 दिन में 5530 कि0मी0 की यात्रा पूरी करते हुए प्रयागराज में समाप्त हुई।

इस उपलक्ष्य में सर्किट हाउस में आयोजित कार्यक्रम में पदयात्रा पूरी करने वाले व वृक्षमाल से जुड़े हुए लोगो को मण्डलायुक्त संजय गोयल व आईजी कविन्द्र प्रताप सिंह के द्वारा सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मण्डलायुक्त संजय गोयल ने कहा कि गंगा नदी हमारे देश व हमारी संस्कृति की पहचान है साथ ही अमूल्य धरोहर भी है। जीवन दायिनी, गंगा भारत की संस्कृति, आध्यात्मिक चिंतन, जलवायु और अर्थव्यवस्था पर अपनी अमिट छाप छोड़ती है।

इस पदयात्रा से देश में गंगा सहित सभी नदियों के लिए व पर्यावरण संरक्षण के साथ ही सहभागिता भी बढेगी। उन्होंने अतुल्य गंगा परिक्रमा से जुड़े हुए लोगो को साधुवाद व बधाई दी। उन्होंने कहा कि यह काम आसान नहीं था। हमें गंगा को निर्मल बनाने के लिए जिन-जिन प्रदेशों से गंगा जी गुजरती है, वहां के ग्राम पंचायतों के साथ ही वहां के युवाओं को इस अभियान के साथ जोड़े। साथ ही हमें मिनी वन स्थापित करने चाहिए, जो संस्थायें पेड़ लगाने का कार्य कर रही है, हमें उन्हें और बढ़ावा देना चाहिए।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it