Top
Begin typing your search...

यूपी में पुलिस-फोर्स ने गांव में छिपकर बचाई अपनी जान

यूपी में पुलिस-फोर्स ने गांव में छिपकर बचाई अपनी जान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

प्रयागराज. प्रयागराज (Prayagraj) जिले के कोरांव थाना क्षेत्र स्थित सेमरिहा गांव (Semariha Village) में युवक की मौत के बाद जमकर हंगामा हुआ. पुलिसकर्मियों को खेतों और गांव में छिप कर अपनी जान बचानी पड़ी. जानकारी के मुताबिक, दो दिन पहले गांव के दो गुटों में जमकर मारपीट हुई थी, जिसमें एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया था. इलाज के दौरान युवक की अस्पताल में मौत हो गई. इससे आक्रोशित ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया. मौत की खबर पाते ही गांव वाले सड़क पर उतर आए. वहीं, शव के घर पंहुचते ही घर में कोहराम मच गया. परिजनों के साथ गांव वालों ने सड़क पर शव रखकर चक्का जाम कर दिया. सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस (police) ने गांव वालों को समझाने की कोशिश की, इसके बाद आक्रोशित गांव के लोगों ने ईट-पत्थर से पथराव शुरू कर दिया. इस दौरान सीओ कोरांव समेत कई पुलिसकर्मी जख्मी हो गए.

दरअसल, कोरांव के सिमराहा गांव के रमेश कुमार की दो दिन पहले कुछ स्थानीय दबंगों से उनका विवाद हुआ था. इसके बाद दबंगों ने रमेश को बुरी तरीके से मारा. रमेश गंभीर रूप से घायल हो गया. उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इलाज के दौरान रमेश की शुक्रवार दोपहर को मौत हो गई. रमेश की मौत की खबर से घर में कोहराम मच गया तो गांव वाले आक्रोशित हो उठे. नाराज गांव वालों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की.

भीड़ ने पुलिस को दौड़ा दिया

कहा जा रहा है कि एक साथ गांव के लोगों ने पुलिस को दौड़ा दिया, जिसके बाद पुलिसकर्मियों को गांव में भागकर अपनी जान बचानी पड़ी. घटना की जानकारी जिले के आला अधिकारियों को दी गई. कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई है. पुलिस वालों को सुरक्षित बाहर निकाला गया है. वहीं, बवाल कर रहे युवकों पर भी बल प्रयोग कर उन्हें भगाया गया. युवक की मौत की खबर पर घर में कोहराम मचा है.

एक महिला पुलिसकर्मी भी घायल

घायल पुलिस वालों में सीओ मेजा सहीराम और एक महिला पुलिसकर्मी है. पुलिस फोर्स पर अचानक हुए पथराव से भगदड़ मच गई. पुलिस वालों के घायल होने की सूचना पर मौके पर एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज पहुंच गए. उन्होंने खुद स्थिति की कमान संभाली. एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने मृतक के पिता अमरनाथ व अन्य लोगों के साथ बैठक की. इस दौरान गांव वालों को काफी समझाने के बाद पुलिस पोस्टमॉर्टम के लिए राजी करा पाई. साथ ही कप्तान की तरफ से कानूनी कार्रवाई के तहत आरोपियों की गिरफ्तारी और अन्य मदद करने का आश्वासन दिया गया है.

Special Coverage News
Next Story
Share it