Top
Begin typing your search...

उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव को लेकर ये नया आदेश जारी

पंचायतों के आंशिक परिसीमन का शासनादेश जारी कर दिया गया है.

उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव को लेकर ये नया आदेश जारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

उत्तर प्रदेश में अभी पंचायत चुनाव (Panchayat Election) की तारीख का ऐलान नहीं हुआ है, लेकिन प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां तेज हो गई हैं. इसी बीच कानपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे पंचायतीराज के अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने कहा कि पंचायत चुनाव फरवरी, अप्रैल या मई में हो सकता है. इस संबंध में जल्द निर्णय लिया जाएगा. शासन चुनाव तैयारियां कराने पर विचार कर रहा है. इसी बीच पंचायतों के आंशिक परिसीमन का शासनादेश जारी कर दिया गया है.

ग्राम पंचायतवार जनसंख्या का अवधारण सुनिश्चित करने का काम 4 दिसंबर से 11 दिसंबर के बीच होगा. ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत के प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्रों की प्रस्तावित सूची तैयार कर उसके प्रकाशन का काम 12 दिसंबर से 21 दिसंबर के बीच होगा. आपत्तियों को 22 दिसंबर से 26 दिसंबर तक प्राप्त किया जा सकेगा. आपत्तियों का निस्तारण 27 दिसंबर से 2 जनवरी तक चलेगा. निर्वाचन क्षेत्रों की अंतिम सूची का प्रकाशन 3 जनवरी से 6 जनवरी के बीच होगा.

अपरमुख्य सचिव ने बताया कि पंचायत चुनाव की जिले स्तर पर तैयारियां तेजी से चल रही हैं. अधिकारी और कर्मचारी इसमें जुटे हैं. उन्होंने कहा कि प्रधानों का कार्यकाल खत्म होने पर पंचायतीराज अधिनियम के तहत ADO स्तर के अधिकारियों की नियुक्ति होगी.

25 दिसंबर को खत्म हो रहा कार्यकाल

उत्तर प्रदेश में ग्राम प्रधान समेत सभी पंचायत प्रतिनिधियों का कार्यकाल 25 दिसंबर को समाप्त हो रहा है. चुनाव आयोग ने वोटरलिस्ट के पुनरीक्षण का कार्यक्रम घोषित कर दिया है. इसके मुताबित दिसंबर तक वोटर लिस्ट जारी करने की संभावना जताई जा रही है. पिछली बार हुए चुनाव में 2015 में 9 अक्टूबर से 9 दिसंबर के बीच चुनाव प्रक्रिया संपन्न हुई थी. इसे देखते हुए अगले साल मई तक चुनाव की संभावना है.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it