Begin typing your search...

प्रियंका गांधी ने 125 प्रत्याशियों की जारी की सूची, उन्नाव कांड की पीड़ित की मां को दिया टिकट

गुरुवार को प्रियंका गांधी ने उम्मीदवारों की सूची का ऐलान करते हुए बताया कि पार्टी ने इनमें 50 सीटों पर महिला प्रत्याशियों को उतारा है।

प्रियंका गांधी ने 125 प्रत्याशियों की जारी की सूची, उन्नाव कांड की पीड़ित की मां को दिया टिकट
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश में 125 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है। गुरुवार को प्रियंका गांधी ने उम्मीदवारों की सूची का ऐलान करते हुए बताया कि पार्टी ने इनमें 50 सीटों पर महिला प्रत्याशियों को उतारा है। बता दें कि वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस नेता ने कहा कि कुछ पत्रकार, एक अभिनेत्री, समाजसेवी और संघर्षशील महिलाओं को मौका दिया गया है। प्रियंका गांधी ने बताया कि उन्नाव सदर सीट से कांग्रेस ने रेप पीड़िता की मां को टिकट दिया। उन्नाव के इस बहुचर्चित रेप मामले में पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर जेल में हैं।‌

सलमान खुर्शीद की पत्नी और प्रमोद तिवारी की बेटी को टिकट

वहीं फर्रुखाबाद से पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद की पत्नी लुईस खुर्शीद को उम्मीदवार बनाया गया है। अराधना मिश्रा मोना को प्रतापगढ़ जिले की रामपुर खास सीट से टिकट दिया गया है। मोना कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी की बेटी हैं। वहीं शाहजहांपुर से आशा वर्कर पूनम पांडेय को मौका दिया गया है। नोएडा से पंखुड़ी पाठक को उतारा गया है।

संघर्ष करने वाली महिलाओं को टिकट

प्रियंका गांधी ने कहा कि सूची नया संदेश दे रही है कि यदि आपके पास अत्याचार हुआ तो आपके पास यह शक्ति है कि आप अपने हक के लिए लड़ो। आपकी लड़ाई में कांग्रेस पार्टी आपका साथ देगी। सत्ता अपने हाथ में लें। साथ ही प्रियंका गांधी ने कहा कि ''हमारी उन्नाव की प्रत्याशी उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मां हैं। हमने उनको मौका दिया है कि वे अपना संघर्ष जारी रखें। जिस सत्ता के ​जरिए उनकी बेटी के साथ अत्याचार हुआ, उनके परिवार को बर्बाद किया गया, वही सत्ता वे हासिल करें। हमने सोनभद्र नरसंहार के पीड़ितों में से एक रामराज गोंड को भी टिकट दिया है। इसी तरह आशा बहनों ने कोरोना में बहुत काम किया, लेकिन उन्हें पीटा गया। उन्हीं में से एक पूनम पांडेय को भी हमने टिकट दिया है। सदफ जाफर ने सीएए-एनआरसी के समय बहुत संघर्ष किया था। सरकार ने उनका फोटो पोस्टर में छपवाकर उन्हें प्रताड़ित किया। मेरा संदेश है कि अगर आपके साथ अत्याचार हुआ तो आप अपने हक के लिए लड़ें। कांग्रेस ऐसी महिलाओं के साथ है।''

दलबदल पर अपनी बात रखी

कांग्रेस नेताओं ने कुछ नेताओं के पार्टी छोड़ने पर कहा है कि ''आया राम गया राम हर चुनाव में, हर पार्टी में होता है। मुझे नहीं लगता कि यह कोई ऐसी चीज है जिससे किसी पार्टी को घबराना चाहिए। अगर हमारे साथी जाते हैं तो हमें लगता है कि वे हमारे संघर्ष से पीछे हट रहे हैं।''

Sakshi
Next Story
Share it