Begin typing your search...

रायबरेली में देशी शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई दस, मुख्य आरोपी परिवार समेत फरार

रायबरेली में देशी शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई दस, आबकारी इंस्पेक्टर और सिपाही निलंबित, मुख्य आरोपी ठेकेदार धीरेंद्र सिंह परिवार समेत फरार

रायबरेली में देशी शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई दस,  मुख्य आरोपी परिवार समेत फरार
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में अवैध शराब के कारण फिर मौत का बड़ा मामला सामने आया है। राज्य के रायबरेली जनपद में देशी शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 10 हो गई है। मृतकों में एक महिला भी शामिल हैं। हालांकि, प्रशासन ने अवैध शराब से 6 लोगों की ही मौत की पुष्टी की है। प्रशासन ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए जिले के आबकारी इंस्पेक्टर अजय कुमार और सिपाही धीरेंद्र श्रीवास्तव को निलम्बित कर दिया है।

इस घटना के बाद से पूरे क्षेत्र में सनसनी मची हुई है। दस के अधिक लोगों की अब भी हालत खराब बतायी जा रही है। पुलिस ने मामला दर्ज कर मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है। पुलिस प्रशासन द्वारा घटना की जांच जारी है। मृतकों का आंकड़ा बढ़ने की संभावना जतायी जा रही है।

यह घटना रायबरेली के महराजगंज थाना क्षेत्र के पहाड़पुर का है। बताया जाता है कि मंगलवार को पहाड़पुर के रहने वाले रामधनी के बच्चे का जन्मदिन समारोह था। इसी समारोह में शराब पीने के बाद कई लोगों की हालत बिगड़ने लगी। फिर देर शाम चार लोगों की मौत हो गई।

घटना की सूचना मिलते ही पूरा गांव मंगलवार की रात से छावनी में बदल गया है। लखनऊ मंडल के मंडलायुक्त, आइजी लक्ष्मी सिंह, जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार सहित पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी बुधवार को भी गांव में कैंप किए हुए हैं।

जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने बयाया कि डेढ़ दर्जन लोगों की हालत खराब है। उनका इलाज चल रहा है। घटना को लेकर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। मरने वालों के शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए गए हैं। मामले की जांच की जा रही है। मौतों का आंकड़ा और बढ़ सकता है।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it