Begin typing your search...

राजस्व निरीक्षक घुस लेते पकड़ा गया, एंटी करप्शन की टीम ने किया गिरफ्तार

राजस्व निरीक्षक द्वारा पीड़ित से साढ़े पांच हजार रूपए की मांग की गई थी।

राजस्व निरीक्षक घुस लेते पकड़ा गया, एंटी करप्शन की टीम ने किया गिरफ्तार
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

अयोध्या के सोहावल तहसील में कार्यरत एक राजस्व निरीक्षक को खेत की पैमाइश के नाम पर साढ़े तीन हजार रुपये घूस लेते धर दबोचा गया है। पीड़ित की शिकायत पर एंटी करप्शन टीम ने मंगलवार को यह कार्रवाई की है। पकड़े गए राजस्व निरीक्षक को रुदौली थाने ले जाया गया है। एंटी करप्शन की इस कार्रवाई से तहसील में हडकंप मच गया है। तहसील में पीड़ितों के काम करने के लिए वसूली की शिकायतें लगातार सामने आ रही थीं।

जानिए क्या है पूरा मामला

जानकारी के अनुसार तहसील में कार्यरत राजस्व निरीक्षक नरसिह नरायण श्रीवास्तव कार्यरत हैं। तहसील क्षेत्र पंडितपुर निवासी अमित पासी का आरोप है कि राजस्व निरीक्षक द्वारा पैमाइश के नाम पर उनसे साढ़े पांच हजार रुपये की मांग की गयी थी। दो हजार रुपये देने के बाद भी पैमाइश करने से इंकार कर दिया। आरोप है कि राजस्व निरीक्षक ने पीड़ित किसान से साढ़े तीन हजार रुपये और मांगे।

पीड़ित ने तंग आकर की शिकायत

पीड़ित किसान ने कई बार विनती भी कि लेकिन वह अपनी मांग पर अड़े रहे। तंग आकर पीड़ित किसान ने एंटी करप्शन ब्यूरो में शिकायत दर्ज करायी, जिसके बाद एंटी करप्शन की टीम ने पीड़ित किसान को मंगलवार को राजस्व निरीक्षक को ट्रैप करने के लिए भेजा। बताया जाता है कि पीड़ित ने जैसे ही साढ़े तीन हजार रुपये राजस्व निरीक्षक को दिए वहां पहले से मौजूद टीम ने रंगे हाथों उसे पकड़ लिया। इसे लेकर हडकंप मच गया।

एंटी करप्शन की टीम ने आरोपी को पकड़ा

बाद में एंटी करप्शन टीम राजस्व निरीक्षक को अपनी अभिरक्षा में लेकर तहसील से निकल आई और उसे रुदौली थाने ले जाया गया है। बताया जाता है कि सोहावल ही नहीं लगभग सभी तहसीलों में वसूली का कारोबार जोरों पर है। जिसके चलते पीड़ितों को दिक्कतें उठानी पड़ती है। यह हाल तब है जब शासन की ओर से पारदर्शी व्यवस्था की बात कही गई है। इसके बाद भी तहसीलों में भ्रष्टाचार नहीं थम रहा है। हालांकि इस बाबत अभी राजस्व निरीक्षक संघ की ओर से कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

Satyapal Singh Kaushik
Next Story
Share it