Top
Begin typing your search...

उत्तर प्रदेश को चार भागों में बांट कर पृथक पश्चिम प्रदेश का निर्माण कराया जाए-भगत सिंह वर्मा

प्रदेश सरकार गन्ने का लाभकारी रेट 600 कुंटल तत्काल घोषित करें - भगत सिंह वर्मा।

उत्तर प्रदेश को चार भागों में बांट कर पृथक पश्चिम प्रदेश का निर्माण कराया जाए-भगत सिंह वर्मा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

देवबंद। आज यहां पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा की विशाल रैली पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा के नेतृत्व में तल्हेडी से ट्रैक्टर ट्राली यो मोटरसाइकिलों व कारों में हजारों किसानों के साथ नारेबाजी करते हुए जामिया तिब्बिया कॉलेज के सामने स्टेट हाईवे पर सांकेतिक जाम लगाया और किसानों को संबोधित किया इसके बाद किसान प्रदर्शन करते हुए सराय तलहेडी चुंगी मंगलौर चौकी मुजफ्फरनगर चुंगी मजनू वाला रोड सुभाष चौक होते हुए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा का जुलूस जोरदार नारेबाजी और प्रदर्शन करते हुए गन्ना समिति देवबंद पहुंचा यहां आकर पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा ने विशाल किसान महापंचायत की।

गन्ना समिति में विशाल किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा पिछले दो दशक से उत्तर प्रदेश को चार भागों में बांट कर पृथक पश्चिम प्रदेश निर्माण की लड़ाई लड़ रहा है उत्तर प्रदेश देश ही नहीं दुनिया का सबसे बड़ा राज्य है इसलिए उत्तर प्रदेश को चार भागों में बांट कर पृथक पश्चिम प्रदेश का निर्माण जरूरी है भगत सिंह वर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश बड़ा राज्य होने के कारण पूरा प्रदेश गरीबी महंगाई भ्रष्टाचार बेरोजगारी व अव्यवस्था की चपेट में है।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 26 जिलों 6 मंडलों 8 करोड जनसंख्या 137 विधानसभा क्षेत्रों 27 लोकसभा क्षेत्रों का पृथक पश्चिम प्रदेश निर्माण होने तक पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा का संघर्ष जारी रहेगा। राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि जहां पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा अलग राज्य की लड़ाई लड़ रहा है वही किसानों की लड़ाई में मुक्ति मोर्चा सबसे आगे है। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में गन्ना किसान भारी आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है पिछले 4 वर्ष से भाजपा की योगी सरकार ने गन्ने का 1 कुंटल भी रेट नहीं बढ़ाया है।

जबकि छोटे राज्य हरियाणा में पिछले 4 वर्ष में 50 कुंतल गन्ने का रेट बढ़ा है इसलिए प्रदेश सरकार उत्तर प्रदेश के गन्ना किसानों को भी अपने सरकारी खाते से 50 कुंटल गन्ने का रेट गन्ना किसानों के बैंक खातों में सीधा भेजें। प्रदेश सरकार गन्ने से प्रतिवर्ष 32000 करोड रुपए का राजस्व वसूल रही है। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि भाजपा की योगी सरकार गन्ना किसानों की लागत को देखते हुए गन्ने का लाभकारी रेट 600 कुंटल तत्काल घोषित करें और उत्तर प्रदेश की 120 चीनी मिलों पर पिछले वर्ष का बकाया गन्ना भुगतान 7000 करोड रुपए व पिछले वर्षों में देरी से किए गए गन्ना भुगतान पर लगा ब्याज 120 चीनी मिलों से 10000 करोड रुपए गन्ना किसानों को तत्काल दिलाएं।

भगत सिंह वर्मा ने उत्तर प्रदेश में कृषि कार्य हेतु किसानों को निशुल्क बिजली दिलाने आम उपभोक्ताओं को घरेलू बिजली के रेट आधे करने मनरेगा योजना को सीधा खेती से जोड़ने हाईवे सड़कों से टोल टैक्स समाप्त करने के लिए 14 मांगों सहित उप जिलाधिकारी देवबंद राकेश कुमार को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। किसानों की विशाल महापंचायत की अध्यक्षता मोहम्मद अमीर आलम ने की। महापंचायत का संचालन करते हुए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव रविंद्र चौधरी गुर्जर ने कहा कि आज देश और प्रदेश का अन्नदाता किसान काफी परेशान और घाटे में है। केंद्र और प्रदेश सरकार किसानों को उसकी फसलों का लाभकारी मूल्य नहीं दिला रही है।

रविंद्र चौधरी ने कहा कि यदि देश के अन्नदाता किसानों को उसकी फसलों का लाभकारी मूल्य मिलता तो किसानों को 2 सौ लाख करोड रुपए मिलने चाहिए थे और यदि देश के किसानों को उनकी फसलों का लागत मूल्य भी मिल जाता तो उन्हें 50 लाख करोड़ रुपए मिलने चाहिए थे लेकिन सरकार की गलत नीति के कारण आज देश के अन्नदाता किसानों पर 21 लाख करोड रुपए का कर्ज हो गया है। जिसके लिए प्रदेश सरकार व केंद्र सरकार सीधे-सीधे जिम्मेदार है। महापंचायत को संबोधित करते हुए वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वीरेंद्र चौधरी ने कहा कि इस बार पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा भगत सिंह वर्मा के नेतृत्व में प्रथक पश्चिम प्रदेश निर्माण की लड़ाई के साथ साथ गन्ने का लाभकारी रेट 600 कुंटल लेकर ही चैन से बैठेगा।

महापंचायत में राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष राजेंद्र चौधरी जिला अध्यक्ष सुशील गुर्जर धार की मंडल उपाध्यक्ष सरदार गुरविंदर सिंह बंटी वीरेंद्र राठी जिला उपाध्यक्ष वसीम जहीरपुर हाजी सुलेमान डॉक्टर यशपाल त्यागी मोहम्मद इरशाद मुखिया मोहम्मद इनायत मोहम्मद यासीन रवि कांत त्यागी सुभाष त्यागी सुनील बाटला प्रवीण त्यागी नीरज सैनी प्रधान रविंद्र चौधरी प्रधान हाजी सुलेमान बुद्धू हसन चौधरी केसर आलम मोहम्मद याकूब हरपाल सिंह जोगेंद्र सिंह रफल सिंह सचिन कुमार अभिषेक चौधरी आकाश कुमार अरविंद चौधरी चौधरी राजपाल सिंह सहित हजारों किसानों ने भाग लिया और अपने बीच में एस सी डी आई डिप्टी एके ओझा व गन्ना सचिव प्रेम चद चौरसिया व उप जिलाधिकारी देवबंद राकेश कुमार को धरने प्रदर्शन में अपने बीच बैठाए रखा। और किसानों ने कहा कि इस बार यदि चीनी मिल में घट तो ली पाई गई तो चीनी मिल मालिक प्रबंध तंत्र प्रशासन व गन्ना विभाग इसके लिए सीधा-सीधा जिम्मेदार होगा।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it