Begin typing your search...

महिला अफसर के चक्कर में अपनी पत्नी से डिवोर्स लेना चाह रहे DM संत कबीर नगर, सास-ससुर ने लगाए सनसनीखेज आरोप

संत कबीर नगर के जिलाधिकारी प्रेम रंजन सिंह पर किसी महिला अफसर से नजदीकियों का आरोप लगा है.

महिला अफसर के चक्कर में अपनी पत्नी से डिवोर्स लेना चाह रहे DM संत कबीर नगर, सास-ससुर ने लगाए सनसनीखेज आरोप
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

संत कबीर नगर के जिलाधिकारी प्रेम रंजन सिंह पर किसी महिला अफसर से नजदीकियों का आरोप लगा है. यह आरोप किसी और ने नहीं बल्कि रिटायर्ड आईएएस और डीएम के ससुर अरुण कुमार सिन्हा ने लगाया है. उन्नाव पहुंचे रिटायर्ड आईएएस अधिकारी अरुण सिन्हा ने अपनी पत्नी के साथ एक प्रेस कांफ्रेंस की और कहा कि उनके आईएएस दमाद का किसी अन्य महिला अधिकारी के साथ संबंध है और वह अपनी पत्नी को छोड़ना चाहते हैं.

1983 बैच के आईएएस अधिकारी अरुण कुमार सिन्हा ने कहा कि उन्नाव में तैनात महिला अधिकारी डीएम संत कबीर नगर के साथ अपनी नजदीकियां बढ़ा रही है. उन्होंने कहा कि यह अनैतिक है और वह उसका विरोध करेंगे. उन्होंने कहा कि एक शादीशुदा पुरुष जिसका डिवोर्स नहीं हुआ है और उसकी लीगल पत्नी है, उनसे एक महिला अधिकारी संबंध बना रही है. उन्होंने कहा कि वे इसका विरोध करेंगे. कार्रवाई के लिए जो कदम होंगे वह भी उठाएंगे.

महिला अफसर डीएम के साथ पत्नी की तरह आ रही पेश

अरुण कुमार सिन्हा ने कहा कि आईएएस अधिकारी और वर्तमान में डीएम संत कबीर नगर के पद पर तैनात प्रेम रंजन सिंह उनके दामाद हैं. प्रेम रंजन का विवाह उनकी बेटी के साथ वर्ष 2015 में हुआ था. नवम्बर 2022 में उनको कई ट्वीट मिले, जिनसे यह आभास हो रहा है कि महिला अफसर उनके दामाद के साथ एक पत्नी तरह नजर आ रही है. इतना ही नहीं उनके दामाद जब गोरखपुर विकास प्राधिकरण में थे और संत कबीर नगर के डीएम हैं तो वहां कार्यक्रमों में शामिल होते दिख रही हैं. उनका कहना था कि महिला अफसर की वजह से उनकी बेटी का घर टूट रहा है.

तलाक के लिए डीएम ने दी अर्जी

अरुण सिन्हा ने कहा कि डीएम प्रेम रंजन सिंह ने पत्नी से तलाक के लिए कोर्ट में अर्जी भी दे रखी है, जबकि उनकी बेटी डिवोर्स नहीं चाहती. इस मौके पर उनकी पत्नी अंजू सिन्हा ने भी कई गंभीर आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि ट्विटर पर एक फोटो वायरल होने के बाद जब वे उस महिला अफसर के पास पहुंची तो उन्हें साढ़े 3 घंटे वेट करवाया गया. जब फोटो दिखाई तो उन्होंने कहा कि जिसने वायरल की है उनसे जाकर पूछें, इसमें वे कुछ नहीं कर सकती. आप हमें डिस्टर्ब कर रही है.

News Desk Editor
Next Story
Share it