Top
Begin typing your search...

निर्धन व गरीब बच्चों की फीस माफ करने को लेकर मीनू संगल मैं मैनेजमेंट से पत्र लिखकर की अपील

निर्धन व गरीब बच्चों  की फीस माफ करने को लेकर मीनू संगल मैं मैनेजमेंट से पत्र लिखकर की अपील
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सैंट आर . सी . एजुकेशनल मिशन गाजियाबाद द्वारा संचालित सेंट आर .सी. कान्वेंट स्कूल शामली की प्रधानाचार्या श्रीमती मीनू संगल द्वारा मिशन सचिव अनिल ठाकुर एवम कोषाध्यक्ष पंकज गर्ग को पत्र लिख कर अवगत कराया कि शामली में कोरोना महामारी ने बहुत कहर बरपाया है अनेक साथी हमें छोड़ कर चले गए ऐसे में स्कूल मैनेजमेंट से निवेदन है कि वह उन बच्चों की फीस जिन बच्चों के माता पिता गुजर गए हैं माफ करने की कृपा करें एवं सरकार के निर्देशानुसार ऑनलाइन परीक्षा शुल्क भी माफ कर दिया जाए। प्रधानाचार्य महोदय के पत्र पर विचार हेतु मिशन कार्यकारणी की जूम मीटिंग आहूत की गई। मीटिंग में निम्न प्रस्ताव आये,

प्रस्ताव संख्या 1. पिछली मीटिंग की पुष्टि का प्रस्ताव आया, जिसमे ऑनलाइन कक्षा संचालन तक कक्षा आठ तक पचास प्रतिशत शुल्क माफी, कक्षा नों व ग्यारह में पच्चीस प्रतिशत व कक्षा 10वीं व 12वीं में, अभिभावक की आर्थिक स्थिति के अनुसार प्रधानाचार्या जी के विवेक पर शुल्क माफी पास किया गया था, प्रस्ताव पुष्ठि पर कोई एतराज नही आया, प्रस्ताव की पुष्टि की गई। श्री पंकज गर्ग कोषाध्यक्ष, रामचंद्र एजुकेशन मिशन ने सभा को बताया कि प्रधानाचार्या महोदया ने इस महामारी के वक्त में अभिभावकों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए स्कूल प्रबंध कारिणी से जो निवेदन किया है, मैं कार्यकारिणी के सामने उनके पत्र को ही 4 प्रस्तावो के रूप में एवम आप सब से की गई फोन वार्ता के आधार पर तैयार किये गए है 3 प्रस्ताव अर्थात कुल सात प्रस्ताव प्रस्तुत कर रहा हूं।

प्रस्ताव 1. हमारे स्कूल में पढ़ रहे बच्चों के जो अभिभावक हमे छोड़ कर चले गए, परिवार में कमाई का कोई साधन नही है, उनके बच्चों को स्कूल निशुल्क शिक्षा दे।

(2) अब सेंट आर. सी. कान्वेंट स्कूल शामली में कभी भी, किसी भी कक्षा में, किसी भी छात्र से बिल्डिंग फीस, वार्षिक शुल्क, डेवलपमेंट शुल्क और खेल शुल्क नहीं ली जाए,

(3) सरकार के निर्देशानुसार परीक्षाएं ऑनलाइन चल रही है अतः ऑनलाइन परीक्षाओ के लिए परीक्षा शुल्क (एग्जाम फीस) नही ली जाए।

(4) इस वर्ष जो भी नए बच्चे किसी भी क्लास में स्कूल में प्रवेश लेंगे उनसे किसी प्रकार का कोई प्रवेश शुल्क भी नहीं लिया जाए।

(5) शामली के जो व्यक्ति इस महामारी के कारण भगवान जी के पास चले गए, सैंट. आर. सी. ग्रुप आफ एडुकेशनल इंस्टीट्यूट शामली के स्कूल, कालेज, आई. टी. आई. में आवश्यकतानुसार उनके परिवार में से एक सदस्य को योग्यतानुसार सर्विस दी जाये।

6. जिला शामली में जिन बच्चों के माता पिता दोनों कोरोना से गुजर गये है, और उनके परिवार में उनका कोई सगा संबंधी नही है और अब कोई ऐसा सहारा नही जिससे उनकी पढ़ाई आगे चल सके है, उन बच्चों को पोस्ट ग्रेजुएशन तक जो भी शिक्षा सैंट आर सी ग्रुप ऑफ एजुकेशनल इंस्टिट्यूट शामली के स्कूल, कॉलेज, आई टी आई में उपलब्ध है, जैसे स्कूल में 12वीं तक की शिक्षा, सैंट आर. सी. डिग्री कॉलेज में पोस्ट ग्रेजुएशन तक एवम सैंट आर. सी. आईटीआई में सभी तकनीकी शिक्षा जहां तक उन्हें पढ़ना है, उनकी पढ़ाई निशुल्क रहे।

7. सैंट आर सी ग्रुप ऑफ एडुकेशनल इंस्टीट्यूट के शामली के स्कूल, कॉलेज व आई टी आई में लगभग पांच हजार बच्चे शिक्षा ले रहे है, उनके पांच हजार परिवारो को श्री भगवान स्वस्थ रखे, लेकिन इस महामारी में पिछले दिनों कुछ सामान्य चिकित्सा उपकरणों की कमी हो गई थी, इसलिए मिशन द्वारा

2ऑक्सीजन कसन्ट्रेटर, 20आक्सीजन सिलेंडर, 100आक्सीजन फ्लो मीटर, 200पल्स-ऑक्सीमीटर, 200स्टीमर को क्रय करके कोरोना चिकित्सा उपयोगी यंत्र बैंक की स्थापना की जाये, जिससे इन परिवारों की आवश्यकता आने पर उनके स्वस्थ होने तक उनको इन यंत्रो को निशुल्क प्रदान कर उनकी सहायता की जा सके।

सैंट आर. सी. एजुकेशनल मिशन के चेयरमैन अरविंद संगल ने प्रस्तावो का समर्थन करते हुऐ उपस्थित सदस्यों से कहा कि वास्तव में कठिनाई के दिन है, शामली के अभिभावकों व नागरिको ने स्कूल का हमेशा बहुत साथ दिया है, अभिभावकों को आज परेशानी का सामना कंरना पड़ रहा है, उन्हें हमारे साथ कि जरूरत है, ऐसे वक्त पर उनकी परेशानी में हमारे योगदान से व कुछ राहत महसूस करेंगे, अतः मैं सैंट आर सी एजुकेशनल मिशन के सभी पदाधिकारीओ, सदस्यों से अपील करता हूँ की उपरोक्त सभी सातो प्रस्तावो पास किये जायें।

अरविन्द संगल की अपील पर मिशन के सदस्यों ने करतल ध्वनि करते हुए सभी प्रस्तावो को पास किया।

मीटिंग में अरविन्द संगल शामली, अनिल सिंह मुज्जफरनगर, पंकज गर्ग रुड़की, संजय गोयल मुजफ्फरनगर, विवेक मित्तल शामली, नफीस अहमद शामली, सुशील जिंदल दिल्ली, नंद किशोर मित्तल दिल्ली, अनुज अग्रवाल दिल्ली, चंद्र प्रकाश पांडे दिल्ली, मोहन लाल पौंटा सहाब, घनश्याम अग्रवाल मेरठ, त्रिलोक चंद जिंदल अलीगढ़ मिशन पदाधिकारी एवम श्रीमती मीनू संगल, आदित्य कुमार व आर पी एस मलिक स्कूल प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it