Begin typing your search...

शामली के जंगलों में आबकारी विभाग ने की कच्ची शराब बनाने वालों पर छापेमारी: ड्रोन से की गई निगरानी

शामली के जंगलों में आबकारी विभाग ने की कच्ची शराब बनाने वालों पर छापेमारी: ड्रोन से की गई निगरानी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

शामली जनपद में जिलाधिकारी के आदेश पर आज आबकारी विभाग ने कच्ची शराब और अवैध मदिरा के खिलाफ अभियान चला जिसमें उन्होंने झिंझाना थाना क्षेत्र के जंगलों में जाकर ड्रोन कैमरे से निगरानी और सेट को लीटर कच्ची शराब नष्ट की विभाग का अभी भी अभियान जारी है।

आबकारी आयुक्त महोदय के निर्देश पर प्रदेश में अवैध मदिरा एवं अवैध मद्यनिष्कर्षण के विरुद्ध चलाए जा रहे विशेष प्रबर्तन अभियान के अंतर्गत जिला अधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक महोदय के आदेशों के क्रम में जनपद की आबकारी टीम द्वारा पुलिस एवं प्रशासन के साथ संयुक्त रूप से जिला आबकारी अधिकारी शामली के नेतृत्व में सीओ कैराना, थानाध्यक्ष कैराना, अहमदगढ़ पुलिस चौकी इंचार्ज एवं आबकारी निरीक्षक गण अपनी टीमों के साथ पावटी गांव के कीकरों के जंगल में पहुंच कर सघन तलाशी अभियान चलाया। जंगल के ऊपर ड्रोन कैमरा के द्वारा कच्ची शराब बनाने के अड्डों को खोजा गया।

आसपास के एरिया में संभावित झालों पर भी द्रोन की मदद से तलाशी ली गई। क्षेत्र में पहली बार द्रोन के साथ सर्च अभियान चलाया गया जिससे आसपास के लोगों में कौतूहल का विषय रहा तथा सभी को अवगत कराया गया कि अब कोई दूरदराज जंगल में भी चोरी छुपे से शराब को नहीं बना पाएगा। यह अभियान जारी रहेगा पुलिस अधीक्षक महोदय शामली के सहयोग से पूरे अभियान में यमुना के किनारे के क्षेत्रों में द्रोन से अवैध शराब के विरुद्ध सघन तलाशी अभियान चलाया जाएगा तथा अवैध शराब बनाने वालों को गिरफ्तार कर उनके विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। आज जंगलों में तलाशी अभियान में लगभग 250 लीटर कच्ची शराब बरामद हुई तथा लगभग 2000 किलोग्राम तैयार लहन नष्ट की गई।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it