Top
Begin typing your search...

खेत में मिला सोने चांदी के सिक्के का खजाना माला माल हुए मजदूर

शामली में किसान के खेत में मिला खजाना .

खेत में मिला सोने चांदी के सिक्के का खजाना माला माल हुए मजदूर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शामली जिले में खेत से मिटटी खुदाई के दौरान सोने व चांदी के सिक्के निकलने के बाद खेत में सिक्के लूटने के लिए लोगों की भीड़ जमा हो गई। रात के वक्त अवैध रूप से खेत में कराए जा रहे मिट्टी खनन के दौरान खजाना निकलने की सूचना लोगों को दिन निकलने पर उस वक्त हुई जब सड़क पर मिट्टी के साथ कुछ लोगों ने सोने-चांदी के पुराने सिक्को को पड़ा पाया।

खेत में खजाना निकलने की सूचना गांव में आग की तरह फैल गई ओर लोग खेतों की ओर दौड़ पड़े। वहां पहुंचकर लोगों ने जहां फावड़े से जगह जगह मिट्टी की खुदाई शुरू कर दी। वहीं दूसरी ओर कुछ लोग मिट्टी को मानने भी लगे। लोगो को खुदाई के दौरान जो सिक्के मिले है वह मुगलकालीन बताये जा रहे है।

दरअसल आपको बता दे कि पूरा मामला जनपद शामली के झिंझाना थाना क्षेत्र के गाँव खेड़ी खुश नाम का है जहाँ पर खेत से खुदाई के दौरान सोने और चाँदी के मुगलकालीन सिक्के मिले है। खेत में खुदाई के दौरान सिक्के मिलने की सूचना गांव में आग की तरह फैल गई और लोगों को और खेत की खुदाई निकालने में जुट गए।

इस दौरान बताया जाता है कि उनके हाथ भी कुछ सिक्के लगे हैं जबकि चर्चा यह है कि रात में खुदाई के दौरान खेत मालिक और वहां काम कर रहे मजदूरों को काफी संख्या में सोने और चांदी के पुराने सिक्के मिले थे जिनका वजन दो से ढाई किलो तक बताया जा रहा है, अब इनमें सोने के कितने सिक्के हैं और चांदी के कितने हैं इसका सही आकलन नहीं हो सका है।

बताया जाता है कि खेत से निकले यह सोने और चांदी के सिक्के मुगलकालीन है जो किसी समय में यहां दबाए गए होंगे उधर दूसरी ओर गांव में मिट्टी खुदाई के दौरान सोने चांदी के सिक्के मिलने की सूचना पर पुलिस और राजस्व विभाग के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे तथा उन्होंने लोगों से पूछताछ की इस दौरान खेत मालिक मजदूरों और लोगों ने पूरी तरह से खजाना मिलने की बात से मुकरते हुए अपने पास कोई सिक्का होने से भी साफ इनकार कर दिया।

घंटो तक पुलिस वहां मौजूद रहे और उसने घटनास्थल की वीडियोग्राफी भी कराई। जमीन में खुदाई के दौरान से जयनगर आने की सूचना मिलते ही एसडीएम पुरातत्व विभाग की टीम को लेकर मौके पर पहुंचे और वहां पर पुरातत्व विभाग की टीम ने छानबीन की लेकिन पुलिस विभाग को कोई पुराना खजाना वहां गड़े होने के कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले और ना ही इस बात की कोई पुष्टि हो पाई कि वहां पर कोई सिक्के निकले हैं।

हालांकि पुरातत्व विभाग की टीम ने बताया कि हो सकता है कि कोई किसी का धन यहां पर कभी दबाया गया हो और वह खुदाई के दौरान यहां पर लोगों को मिला हो क्योंकि यहां पर ऐसा कोई सबूत नहीं मिल पाया है कि जिससे यह आशंका जताई जा सके कि यहां पर कोई मुगलकालीन समय का खजाना हो सकता है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it