Begin typing your search...

यूपी चुनाव में जाली नारों का कारोबार, STF ने तेज की कार्यवाही

जाली नोटों की तस्करी के गिरोह से जुड़े बड़े लोगों को पकड़ने के लिए एसटीएफ भी लगा दी गई है। पिछले कुछ दिनों से एसटीएफ की एक टीम जाली नोटों की खेप नेपाल से लाने वाले गिरोह की धरपकड़ के लिये पहले से ही लगी भी थी

यूपी चुनाव में जाली नारों का कारोबार, STF ने तेज की कार्यवाही
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

जाली नोटों की तस्करी के गिरोह से जुड़े बड़े लोगों को पकड़ने के लिए एसटीएफ भी लगा दी गई है। पिछले कुछ दिनों से एसटीएफ की एक टीम जाली नोटों की खेप नेपाल से लाने वाले गिरोह की धरपकड़ के लिये पहले से ही लगी भी थी। सलमान व जमील से सम्पर्क रखने के आरोप में कमिश्नर पुलिस के हत्थे चढ़े दो लोगों को शुक्रवार को हिरासत में भी लिया गया है। इनसे काफी देर तक पूछताछ की गई है।

तालकटोरा पुलिस और क्राइम ब्रांच ने जाली नोट की तस्करी करने में बुधवार को सिपाही राहुल, सरगना सलमान व ट्रैवेज एजेंसी संचालक समेत पांच लोगों को पकड़ा था। इस दौरान ही खुलासा हुआ था कि इस गिरोह का मुख्य सरगना जमील है जो पूरे यूपी में अपना नेटवर्क फैलाए हुए है। सिपाही राहुल से भी कई जानकारियां मिली थी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस आधार पर ही उसके मददगार पुलिसकर्मी भी तलाशे जा रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि जल्दी ही दो और पुलिसकर्मियों के खिलाफ राहुल की मदद करने की कार्रवाई की जा सकती है।

एसटीएफ जुटी तस्कर पकड़ने में

यह भी आशंका व्यक्त की जा रही है यूपी चुनाव को देखते हुए कि बड़े पैमाने पर जाली नोटों को तस्करी कर यूपी में लाया जा सकता है। बता दें कि एसटीएफ को कुछ समय पहले यह पता भी लगा था कि नेपाल सीमा पर जाली नोटों की तस्करी करने वाले गिरोह सक्रिय हो गये है। इसके बाद ही एसटीएफ की एक टीम ने नेपाल सीमा से सटे जिलों में पड़ताल शुरू कर दी थी। तालकटोरा व गुड़म्बा पुलिस के हाथ लगे जाली नोटों के तस्कर से मिली जानकारी के बाद ही एसटीएफ भी कमिश्नरेट पुलिस के साथ इस आपरेशन में लग गई है।

Sakshi
Next Story
Share it