Begin typing your search...

सुल्तानपुर चीनी मिल पेराई सत्र का जिलाधिकारी ने किया शुभारंभ

आज सुबह शुभ मुहूर्त के अनुसार हिन्दू रीति रिवाज से पूजा व अर्चना कर जिलाधिकारी व सदर विधायक सूर्यभान सिंह, लंभुआ विधायक देवमणि द्विवेदी ने चीनी मिल में सांकेतिक रूप से गन्ना प्रवाहित कर चीनी मिल का शुभारंभ कर दिया।

सुल्तानपुर चीनी मिल पेराई सत्र का जिलाधिकारी ने किया शुभारंभ
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

जिले की किसान सहकारी चीनी मिल के नए पेराई सत्र का आज जिला अधिकारी रवीश गुप्ता ने विधायकगणों की उपस्थिति में शुभारंभ कर दिया है,आज सुबह शुभ मुहूर्त के अनुसार हिन्दू रीति रिवाज से पूजा व अर्चना कर जिलाधिकारी व सदर विधायक सूर्यभान सिंह, लंभुआ विधायक देवमणि द्विवेदी ने चीनी मिल में सांकेतिक रूप से गन्ना प्रवाहित कर चीनी मिल का शुभारंभ कर दिया। चीनी मिल में आज आए पहले ट्रॉली गन्ना किसान का जिलाधिकारी व विधायकगणों ने गन्ना तौल केंद्र पर स्वागत किया। पूजा-अर्चना के बाद गन्ना तौल का भी शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर अपर जिला अधिकारी हर्ष देव पांडे चीनी मिल के महाप्रबंधक प्रताप नारायण व जिला गन्ना अधिकारी सुनील कुमार समेत बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे। लंबे समय से इंतजार कर रहे किसान पेराई सत्र के शुभारंभ से बेहद खुश है।

बतातें चले कि शुभारंभ के दौरान जिला अधिकारी रवीश गुप्ता ने कहा कि आज चीनी मिल का शुभारंभ कर दिया गया है,चीनी मिल पर गन्ना आना शुरू हो गया है। चीनी मिल पर अब तक गन्ना किसानों का कोई भी भुगतान बकाया नहीं है कर्मचारियों के बाधित वेतन के लिए उन्होंने शासन को पत्र लिखा है जल्द ही कर्मचारियों को वेतन भुगतान कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन किसानों की हर समस्या के निस्तारण के लिए कटिबद्ध है।

सुल्तानपुर विधायक सूर्यभान सिंह ने बताया कि चीनी मिल के संचालन में किसी भी प्रकार की बाधा नहीं आने दी जाएगी। चीनी मिल की क्षमता बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री से मांग की गई है,क्षमता वृद्धि के बाद चीनी मिल अनवरत रूप से चलती रहेगी। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों ने प्रदेश की कई चीनी मिलों को बेच दिया गया। लेकिन मौजूदा सरकार ने चीनी मिलों के जीर्णोद्धार का काम किया है।

वही चीनी मिल के महाप्रबंधक प्रताप नारायण ने बताया कि इस वर्ष 10 लाख कुंतल गन्ने की पेराई का लक्ष्य रखा गया है, उन्होंने बताया कि चीनी मिल की क्षमता कम होने के कारण घाटे का सामना करना पड़ रहा है फिर भी उन्होंने कर्मचारियों के बकाए वेतन ₹10 करोड़ के लिए शासन को पत्र लिखा है, उन्होंने बताया कि पांच-पांच करोड़ रुपए का बजट जल्द ही आ जाएगा।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it