Begin typing your search...

मुस्लिम वोटरों को मेनका की धमकी: ये इलेक्शन तो मैं पार कर चुकी हूं, अब पड़ेगी आपको मेरी जरूरत

गौरतलब हो कि ये सभा बीजेपी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष अजादार हुसैन द्वारा आयोजित की गई थी। जो की उनके पैतृक गांव तुराबखानी में हुई।

मुस्लिम वोटरों को मेनका की धमकी: ये इलेक्शन तो मैं पार कर चुकी हूं, अब पड़ेगी आपको मेरी जरूरत
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

सुल्तानपुर. बीजेपी के टिकट पर सुल्तानपुर से चुनाव लड़ रही केंद्रीय परिवार कल्याण मंत्री मेनका गांधी गुरुवार को एक मुस्लिम बाहुल्य गांव में कैम्पेन करने पहुंची थी। मंच से उन्होंने बोलते हुए मुस्लिम वोटरों को धमकी भरे लहजे में कहा कि अगर आपको लगे कि हम खुले हाथ और खुले दिल के साथ आए हैं, कि आपको कल मेरी जरूरत पड़ेगी। ये इलेक्शन तो मैं पार कर चुकी हूं। अब आपको मेरी जरूरत पड़ेगी। अब आपको जरूरत के लिए नीव डालना है, तो ये है वक़्त।

ये जीत आपके बिना भी होगी आपके साथ भी होगी

मेनका गांधी इतने पर ही नहीं ठहरी, उन्होंने अपनी बात को पुख्ता करने के लिए वहां मौजूद लोगों से ही सवाल कर लिया। ये बात सही है के नहीं सही है? ये आपको पहचानना पड़ेगा। फिर स्पाट लहजे में कहा कि ये जीत आपके बिना भी होगी आपके साथ भी होगी। और चीज आपको सब जगह फैलानी पड़ेगी। जब मैं दोस्ती के हाथ लेकर करके आई हूं। उन्होंने आगे कहा कि रिजल्ट निकलेगा उसमें 100 वोट या 50 वोट निकलेंगे। उसके बाद जब आप काम के लिए आएंगे तो वही होगा मेरे साथ। समझ गए आप लोग! इसलिए जब आप मेरे ही हो तो क्यूं नहीं मेरे ही रहो।

केवल मुसलमानो के संस्थाओ को बांटे होंगे एक हजार करोड़ रुपए

इसके बाद वहां मौजूद लोगों के तेवर थोड़े बदले तो मेनका उसे समझ गई और उन्होंने फौरन बात को पलटा। कहा कि मैने कम से कम एक हजार करोड़ रुपए बांटे होंगे केवल मुसलमानो के संस्थाओ को ताकि वो फले फूले। सवाल ये है आप लोग जब आते हो मदद के लिए तो इलेक्शन के टाइम जब आप कहोगे बाबा नहीं, हम भाजपा को नहीं देंगे। हम कोई भी पार्टी को दे देंगे जिससे भाजपा हारेगी। तो हमारा दिल भी टूटता है। गौरतलब हो कि ये सभा बीजेपी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष अजादार हुसैन द्वारा आयोजित की गई थी। जो की उनके पैतृक गांव तुराबखानी में हुई।

Special Coverage News
Next Story
Share it