Begin typing your search...

दामाद ने संपत्ति के लालच में की अपने ही ससुर की हत्या, पुलिस ने किया खुलासा

दामाद ने संपत्ति के लालच में की अपने ही ससुर की हत्या, पुलिस ने किया खुलासा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

सुल्तानपुर में बीते 4 दिनों पूर्व घर के बाहर सो रहे बुजुर्ग की हत्या के मामले में आखिरकार पुलिस को सफलता मिल ही गई। पुलिस ने घटना में शामिल आरोपी दामाद और नाती को गिरफ्तार कर लिया है साथ ही हत्या में प्रयुक्त फावड़ा भी बरामद कर लिया है। पुलिस की माने तो संपत्ति की लालच में पिता पुत्र ने मिलकर अपने ससुर को मौत के घाट उतार दिया था। फ़िलहाल पुलिस ने इन दोनों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया और जेल भेज रही है।

दरअसल ये मामला है कादीपुर कोतवाली क्षेत्र के मलिकपुर नोनौरा गांव का। जहाँ बीती 17 मई को बुजुर्ग श्रीराज यादव की घर के बाहर सोते समय धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। जिस समय बुजुर्ग श्रीराज की हत्या की गई थी उस समय वो घर में अकेले थे। इस मामले में पुलिस गहनता से पड़ताल कर रही थी। पुलिस ने जब पड़ताल शुरू की तो प्रथम दृष्टया मामला संदिग्ध लगा।

दरअसल मृतक श्रीराज यादव के केवल 3 पुत्रियां अमरावती, चंद्रावती और श्रृंगारी थी। श्रीराज ने सभी की शादियां बहुत पहले ही कर दी थी। श्रीराज ने दो लड़कियों अमरावती और श्रृंगारी की शादी एक ही परिवार में की थी जबकि दूसरी बेटी चंद्रावती का विवाह अखंड नगर थानाक्षेत्र के गोविना सरैया के रहने वाले बाबूलाल से की थी। बाबूलाल का एक बेटा दिल्ली में डबल मर्डर के इल्जाम में जेल में बन्द है, जिसकी पैरवी और खर्च के लिये बाबूलाल अक्सर अपने ससुर से संपत्ति को तीनों बेटियों में बराबर बाँटने के लिये कहा करता था, लेकिन अमरावती और श्रृंगारी के दबाव कारण श्रीराज संपत्ति का बंटवारा नहीं कर रहा था। यही बात चंद्रावती के पति बाबूलाल को अखर रही थी।

बीते 17 मई को जब अमरावती की बेटी शादी थी तो बाबूलाल अपने बेटे के साथ वहां शादी में शामिल होने के लिये गया, लेकिन देर रात वहां से वो मौका पाकर अपने बेटे सैनिक यादव के साथ ससुर के घर जा पहुंचा और फावड़े से श्रीराज की हत्या कर मौके से फरार हो गया। किसी को कोई शक न हो लिहाजा दूसरे दिन सुबह वह उनके घर पहुंचा और अपने ससुर के क्रियाकर्म में शामिल हुआ।

पुलिस को पहले से ही बाबूलाल पर शक था, लिहाजा पुलिस ने जब उससे कड़ाई से पूँछतांछ शुरू की तो मामला खुलकर सामने आ गया। पुलिस ने बाबूलाल और उसके बेटे सैनिक यादव को गिरफ्तार करने के साथ साथ उनकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त फावड़ा भी बरामद कर लिया। फ़िलहाल पुलिस ने इन दोनों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया और इन्हें जेल भेज रही है।

Special Coverage News
Next Story
Share it