Begin typing your search...

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल दम तोड़ा,मरने से पहले भाई से कहा?

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल दम तोड़ा,मरने से पहले भाई से कहा?
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता ने शुक्रवार की रात 11.40 बजे सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। सफदरजंग अस्पताल की ओर से पहले ही अंदेशा जताया जा चुका था कि नब्बे फीसदी जली पीड़िता के लिए अगले 48 घंटे बेहद अहम हैं। पीड़िता के पिता ने आरोप लगाया कि प्रशासन ने बेटी की मौत की सूचना नहीं दी। दरअसल, गुरुवार सुबह उन्नाव में 5 आरोपियों ने उस पर पेट्रोल डालकर जला दिया था. आरोपियों में से एक पीड़िता के साथ हुए गैंगरेप का मुख्य आरोपी है.

सफदरजंग अस्पताल के बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. शलभ कुमार ने बताया कि बड़े प्रयासों के बावजूद पीड़िता को बचाया नहीं जा सका. शाम में ही उसकी हालत खराब होनी शुरू हो गई थी. रात 11.10 बजे उसे कार्डियक अरेस्‍ट आया और 11.40 बजे उसकी मौत हो गई।

सफदरजंग अस्पताल के मेडिकल सुपरिडेंट डॉ. सुनील गुप्ता ने बताया था कि जब वो ज़िंदा थी, बात कर सकती थी तो यही बात वो कर रही थी. बड़े भाई से बात करते हुए पीड़ित ने कहा था- "उसे छोड़ना नहीं है." बार-बार रिपीट कर रही थी, "क्या मैं बच जाऊंगी? मैं मरना नहीं चाहती."

मामला उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र का है, पुलिस एफआईआर के मुताबिक पीड़ित युवती का पिछले साल दिसंबर में गैंगरेप हुआ. और इस साल मार्च 2019 में पुलिस ने इस गैंगरेप की शिकायत भी दर्ज की थी. और इसी केस की तारीख के लिए कोर्ट में युवती जा रही थी.

इस दौरान बिहार थाना क्षेत्र के अंतर्गत ही आने वाले एक और गांव के पास गैंगरेप के पांचों आरोपियों ने मिलकर पहले उसे मारा पीटा, चाकू भी मारा और फिर जिंदा जला दिया. पीड़िता ने खुद ही 112 पर फोन किया और पुलिस से आपबीती बताई. पीड़िता के फोन के बाद ही पीआरवी और एंबुलेंस पहुंची थी.

घटना के चश्मदीद ग्रामीणों ने बताया कि 90 फीसदी जलने के बाद भी पीड़िता घटनास्थल से एक किलोमीटर तक पैदल चली थी. इसके बाद उसने घर के बाहर काम कर रहे एक व्यक्ति से मदद भी मांगी. मौके पर पहुंची पुलिस ने लड़की को पास के ही जिला अस्पताल में भर्ती करवाया. वहां से उसे लखनऊ अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया. इसके बाद उसे दिल्ली भेजा गया.

पीड़िता ने अस्पताल में बयान भी दिया था. मजिस्ट्रेट को दिए अपने बयान में पीड़िता ने 5 आरोपियों के नाम लिए हैं. पीड़िता के बयान के अनुसार, पांचों आरोपियों ने मिलकर पहले उसे चाकू भी मारा और फिर जिंदा जला दिया.

इस घटना के बाद पूरे उन्नाव में हड़कंप मच गया. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. सभी 5 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है. इस घटना में जिन आरोपियों के नाम हैं, उनमें एक हाल ही में जमानत पर छूट कर जेल से बाहर आया है. दो आरोपियों ने अपने तीन साथी के साथ मिल कर इस वारदात को अंजाम दिया.

उधर युवती को जब लखनऊ से दिल्ली लाया गया तो उसकी हालत बहुत गंभीर थी. लखनऊ के सिविल अस्पताल में उसे डॉक्टरों ने प्लास्टिक सर्जरी बर्न यूनिट में रखा गया था इसके बाद दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में भेजा गया था.

मार्च 2019 में लड़की ने उन्नाव के बिहार थाने में जो FIR लिखवाई उसमें लड़की और आरोपी एक ही गांव के रहने वाले हैं. आरोपी ने लड़की को शादी का झांसा देकर रायबरेली में रेप किया और रेप का वीडियो भी बना लिया

मार्च 2019 में लड़की ने उन्नाव के बिहार थाने में जो FIR लिखवाई उसमें लड़की और आरोपी एक ही गांव के रहने वाले हैं. आरोपी ने लड़की को शादी का झांसा देकर रायबरेली में रेप किया और रेप का वीडियो भी बना लिया

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it