Begin typing your search...

देहरादून-हरिद्वार सहित 6 स्टेशनों को बम से उड़ाने की धमकी, प्रशासन ने शुरू की जांच

यह धमकी भरा पत्र भेजने वाले ने खुद को आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद का एरिया कमांडर सलीम अंसारी बताया है.

देहरादून-हरिद्वार सहित 6 स्टेशनों को बम से उड़ाने की धमकी, प्रशासन ने शुरू की जांच
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

उत्तराखंड से इस समय एक बड़ी खबर सामने आ रही है. रुड़की रेलवे स्टेशन के अधीक्षक को एक धमकी भरा पत्र मिला है, जिसमें लक्सर, नजीबाबाद, देहरादून, रुड़की, ऋषिकेश और हरिद्वार रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है. यह धमकी भरा पत्र भेजने वाले ने खुद को आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद का एरिया कमांडर सलीम अंसारी बताया है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, रुड़की रेलवे स्टेशन अधीक्षक को शनिवार शाम एक धमकी भरा पत्र मिला, जो बेहद टूटी-फूटी हिंदी में लिखा हुआ है. इसमें उत्तराखंड के 6 रेलवे स्टेशनों के साथ ही हरिद्वार में मंशा देवी, चंडी देवी समेत अन्य धार्मिक स्थलों को भी बम से उड़ाने की धमकी दी गई है. इस चिट्ठी में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री को निशाना बनाने की धमकी दी गई है. इसे लेकर उत्तराखंड के रेलवे स्टेशनों सहित प्रमुखता स्थानों पर सतर्कता बढ़ा दी गई है.

इस धमकी भरी चिट्ठी की खबर मिलते ही देहरादून से लेकर हरिद्वार तक सतर्कता बढ़ा दी गई है. हालांकि पुलिस अधिकारियों का कहना है कि उन्हें पहले भी ऐसे धमकी भरे पत्र मिले हैं. रुड़की रेलवे स्टेशन अधीक्षक को अप्रैल 2019 में भी इसी तरह का धमकी भरा पत्र मिला था. ऐसे में पुलिस ने पूर्व में मिले इस तरह के धमकी भरे पत्रों की हैंडराइटिंग का मिलान किया, तो उन्होंने राहत की सांस ली.

उत्तरांखड के डीजीपी अशोक कुमार ने इस बाबत जानकारी देते हुए बताया कि 'रुड़की रेलवे स्टेशन अधीक्षक को 7 मई की शाम को एक पत्र मिला, जिसमें लक्सर, नजीबाबाद, देहरादून, रुड़की, ऋषिकेश और हरिद्वार जैसे 6 रेलवे स्टेशनों उड़ाने की धमकी दी गई थी.' उन्होंने इसके साथ ही बताया कि 'धमकी वाला पत्र जैश के एरिया कमांडर सलीम अंसारी के नाम से भेजा गया था.' एएनआई से बातचीत में उन्होंने बताया कि 'यह एक मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति है, जो पिछले 20 सालों से इसी तरह के धमकी भरे पत्र भेज रहा है. फिर भी एहतियात बरती जा रही है.'

Arun Mishra

About author
Assistant Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it