Begin typing your search...

उत्तराखंड के पूर्व मंत्री ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या, बहू ने लगाए थे गंभीर आरोप!

राजेंद्र बहुगुणा ने बुधवार को हल्द्वानी में ओवरहेड टैंक पर चढ़कर ख़ुद को गोली मार ली।

उत्तराखंड के पूर्व मंत्री ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या, बहू ने लगाए थे गंभीर आरोप!
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

उत्तराखंड के पूर्व दर्जा प्राप्त मंत्री राजेंद्र बहुगुणा (Rajendra Bahuguna) ने गोली मारकर आत्महत्या कर ली। राजेंद्र बहुगुणा ने बुधवार को हल्द्वानी में ओवरहेड टैंक पर चढ़कर ख़ुद को गोली मार ली। पुलिस से मिल रही जानकारी के अनुसार राजेंद्र बहुगुणा पारिवारिक विवाद में बहू के द्वारा उन पर लगाए गए गंभीर आरोपों से आहत थे। परिजनों ने भी उनके खिलाफ गंभीर आरोप में दर्ज मुकदमे को गलत बताया है।

बनभूलपुरा थाना क्षेत्र स्थित भगत कॉलोनी निवासी पूर्व दर्जा राज्यमंत्री व रोडवेज में वरिष्ठ लिपिक के पद पर तैनात हेम राजेंद्र बहुगुणा बुधवार दोपहर करीब एक बजे घर से कुछ दूरी पर बने ओवरहेड टैंक पर चढ़ गए। वे टैंक के ऊपर पिस्तौल लेकर चढ़ गए और उन्होंने खुद की कनपट्टी पर रख दी।काफी देर तक लोग और पुलिसकर्मी वहां से उतरने को मनाते रहे लेकिन वे नहीं माने और कूदने की बात कहने लगे। इसी दौरान सूचना पर पहुंचे बनभूलपुरा थाना एसओ नीरज भाकुनी ने काफी देर तक उन्हें समझाने की कोशिश की और बातचीत करने के लिए नीचे बुलाया मगर उन्होंने नीचे उतरने के लिए मना किया। एसओ बनभूलपुरा के मुताबिक उसी दौरान बहुगुणा ने खुद को गोली मार ली। पुलिस उन्हें घायल अवस्था में एसटीएस लेकर पहुंची। वहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने इस पूरे मामले मे राजेंद्र बहुगुणा की बहू , समधी और पड़ोसी के ख़िलाफ़ आत्महत्या के लिए उकसाने की धारा में मुक़दमा दर्ज़ किया है। राजेंद्र बहुगुणा के बेटे अजय की शिकायत पर पुलिस ने मुक़दमा दर्ज़ किया है. गौरतलब है कि राजेंद्र आजीवन कांग्रेस से जुड़े रहे, रोडवेज संघ समेत कई अन्य संगठनों में भी वह उच्च पदों पर रहे। हल्द्वानी डिपो के वर्कशाप में वह सीनियर लिपिक के पद पर कार्यरत थे। 31 अक्टूबर को वह रिटायर्ड होने वाले थे।

एचआर बहुगुणा रोडवेज कर्मचारी रहते हुए पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के कार्यकाल में कांग्रेस में शामिल हुए थे। लंबे समय तक कांग्रेस में रहने के दौरान ही वह दर्जा राज्यमंत्री रहे थे। इसके बाद उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया था। नैनीताल के एसएसपी पंकज भट्ट का कहना है कि पूरे मामले के हर पहलू पर जांच की जा रही है। परिजनों से भी गहराई से पूछताछ की जा रही है।

Arun Mishra

About author
Assistant Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it