Begin typing your search...

काफिले के सामने आया गजराज, चट्टान पर चढ़े उत्तराखंड के पूर्व सीएम ने बचाई जान,

काफिले के सामने आया गजराज, चट्टान पर चढ़े उत्तराखंड के पूर्व सीएम ने बचाई जान,
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कोटद्वार-पौड़ी मार्ग पर हाथी ने पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के क़ाफ़िले को आगे गजराज से आमना सामना हो गया ,लेकिन गजराज बिना किसी को नुकसान पहुंचाए, दरसल उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के काफिले को एक हाथी ने रोक लिया। हाथी इतना गुस्साया हुआ था कि पूर्व सीएम समेत सभी को एक पहाड़ी इलाके में चट्टानों पर चढ़ना पड़ा। त्रिवेंद्र सिंह रावत का पहाड़ी इलाके में चढ़ने और चट्टानों को पार करने की कोशिश का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में एक अधिकारी छिपते हुए एक बड़ी चट्टान से गिरते नजर आ रहा है। रावत और उसके आदमियों के पीछे एक हाथी भी दिखाई देता है।

त्रिवेंद्र सिंह रावत पौड़ी से सतपुली होते हुए कोटद्वार आ रहे थे। शाम करीब साढ़े पांच बजे कोटद्वार और दुगड्डा के बीच तुत गडरे के पास सड़क पर जंगल से अचानक एक हाथी निकल आया। कुछ समय के लिए पूर्व मुख्यमंत्री अपने वाहन में बैठकर हाथी के जंगल में वापस जाने का इंतजार करते रहे। लेकिन कुछ देर बाद हाथी उनके वाहन की तरफ आने लगा।

यह देख रावत अपने साथियों के साथ वाहन छोड़कर बचते बचाते एक चट्टान की चोटी पर चढ़ गए। वीडियो में देखा जा सकता है कि हाथी पहाड़ों की ओर भाग रहे लोगों के पीछे जाने की सोच रहा है, लेकिन वह नहीं दौड़ता बल्कि खड़ा रहता है। हाथी को नियंत्रित करने के लिए वन अधिकारियों को मौके पर बुलाया गया। करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद वन कर्मियों ने हवाई फायरिंग की और किसी तरह हाथी को रास्ते से हटाया। उसके बाद पूर्व सीएम नीचे उतरे और गाड़ी में बैठकर आगे बढ़े।

Desk Editor
Next Story
Share it