Begin typing your search...

केदारनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी की

केदारनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी की

केदारनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी की
X

केदारनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी की

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

अब केदारनाथ जाने वाले श्रद्धालु जिनकी उम्र 50 वर्ष से अधिक होगी उनका स्वास्थ्य परीक्षण होने के बाद ही केदारनाथ जाने की अनुमति मिलेगी। केदारनाथ धाम में हृदयगति रुकने से हो रही मौतों को देखते हुए प्रशासन ने यह कदम उठाया है। सोनप्रयाग में ऐसे श्रद्धालुओं का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है।13 मई 2022 को स्वास्थ्य परीक्षण में चार श्रद्धालु अनफिट मिले, जिन्हें केदारनाथ नहीं जाने की अनुमति नही मिली उन्हें उनके घर रवाना कर दिया गया।

दस श्रद्धालुओं की मौत केदारनाथ धाम में हृदयगति रुकने से मौत हो चुकी है। इसी को देखते हुए 50 वर्ष से अधिक उम्र वाले श्रद्धालुओं की जांच को स्वास्थ्य विभाग ने सोनप्रयाग चार टीम तैनात की हैं। जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने बताया कि 50 वर्ष से अधिक उम्र के श्रद्धालुओं का अनिवार्य रूप से स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा।

बता दे की कई श्रद्धालु बिना गर्म कपड़ों के ही केदारनाथ धाम पहुंच रहे हैं और वहां हाइपोथर्मिया का शिकार हो जा रहे हैं। इसकी मुख्य वजह श्रद्धालुओं को केदारपुरी के मौसम की बारे में सही जानकारी न होना है। इसके अलावा बीमार बुजुर्ग भी केदारनाथ पहुंच रहे हैं, जिनके स्वास्थ्य की जांच जरूरी है।केदारनाथ धाम व पैदल मार्ग पर सभी व्यवस्थाओं की आसानी से आम भक्त दर्शन कर रहे हैं। जबकि धाम में 75 शौचालय और स्थापित किए जा चुके हैं। पैदल मार्ग पर भी सफाई व्यवस्था के लिए 200 सफाई कर्मी बढ़ा दिए गए हैं।

आपको बता दे की रोजाना 18 हजार से अधिक यात्री केदारनाथ बाबा के दर्शनों को पहुंच रहे हैं। जिससे व्यवस्थाएं सुचारू रखने में प्रशासन को काफी पसीना बहाना पड़ रहा है। जिलाधिकारी प्रत्येक घंटे यात्रा से जुड़े अधिकारियों से अपडेट ले रहे हैं। जबकि केदारनाथ धाम व पैदल मार्ग पर लाइव अपडेट ले रहे हैं। शुक्रवार को मंदिर परिसर में यात्रियों ने व्यवस्थित रूप से दर्शन किए। वहीं जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने जिला पूर्ति अधिकारी को एक सप्ताह तक केदारनाथ में ही कैंप करने के निर्देश दिए हैं, यात्रियों को गुणवत्ता युक्त भोजन मिले इसके लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए है।

Ankita Shukla
Next Story
Share it