Top
Begin typing your search...

पुलवामा हमले में शहीद हुए मेजर विभूति ढौंडियाल की पत्नी ने ज्वॉइन की 'आर्मी', लेफ्टिनेंट बनीं नितिका ढौंडियाल

बता दें कि फरवरी 2019 में जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में मेजर विभूति शहीद हो गए थे.

पुलवामा हमले में शहीद हुए मेजर विभूति ढौंडियाल की पत्नी ने ज्वॉइन की आर्मी, लेफ्टिनेंट बनीं नितिका ढौंडियाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा (Pulwama Attack) में शहीद हुए मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल की पत्नी नितिका कौल (Nitika Kaul) ने इंडियन आर्मी ज्वाइन कर ली है. आर्मी ज्वाइन करने के बाद अब वह 'लेफ्टिनेंट नितिका ढौंडियाल' बन गईं हैं. नितिका ने आज भारतीय सेना की वर्दी पहनी और शहीद मेजर विभूति शंकर को श्रद्धांजलि अर्पित की. बता दें कि फरवरी 2019 में जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में मेजर विभूति शहीद हो गए थे.

18 फरवरी 2019 को मेजर ढौंडियाल, जम्‍मू कश्‍मीर के पुलवामा में हुए एक एनकाउंटर में वीरगति को प्राप्‍त हुए थे. 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला हुआ था. इसमें 40 जवान शहीद हो गए थे. इस हमले के बाद ही पुलवामा के पिंगलान गांव में आतंकियों को ढेर करने के लिए सेना ने एक ऑपरेशन चलाया था. पिंगलान में हुए इस एनकाउंटर में चार सैनिक शहीद हुए थे. इन शहीदों में मेजर रैंक के ऑफिसर विभूति ढौंढियाल भी शामिल थे.

शादी के 10 महीने बाद ही छूट गया था साथ

मेजर ढौंढियाल और नितिका की शादी को 10 माह ही हुए थे और अप्रैल 2019 में दोनों की पहली मैरिज एनिवर्सिरी थी. नितिका कौल ने अपने पति को एक बहादुर सैनिक बताते हुए कहा था कि उन्‍हें इस बात का पूरा भरोसा है कि उनके पति की शहादत और ज्‍यादा लोगों को सेनाओं में जाने के लिए प्रेरित करेगी.

पत्नी नितिका ने पति की शहादत पर जताया था गर्व

मेजर ढौंडियाल (Major Vibhuti Shankar Dhoundiyal) की शहादत के बाद जब उनका शव उनके गृहनगर पहुंचा था तो पत्नी नितिका उन पर गर्व किए बिना नहीं रह सकीं. मेजर ढौंढियाल के शव के पास खड़ी नितिका ने अपने पति को सैल्‍यूट किया. नितिका ने कहा, 'आपने मुझसे झूठ कहा था कि आप मुझसे प्‍यार करते हो. आप मुझसे नहीं बल्कि अपने देश से ज्‍यादा प्‍यार करते थे और मुझे इस बात पर गर्व है'. नितिका ने मीडिया के साथ बातचीत में कहा था कि वह कोई बेचारी नहीं हैं बल्कि एक बहादुर शहीद की पत्‍नी हैं और उन्‍हें अपने पति की शहादत पर गर्व है.

अब दुश्मनों से जंग के लिए तैयार हैं नितिका

नितिका ने जिस तरह से अपने बहादुर पति को नम आंखों से 'जय हिंद' बोलकर अंतिम विदाई दी थी, उसके बाद से वो हर किसी की आदर्श बन गई थीं. 30 साल की नितिका ने पिछले वर्ष शॉर्ट सर्विस कमीशन (एसएससी) की परीक्षा पास कर ली थी, जिसके बाद उन्हें सेना में शामिल किया गया है. अब वो भी पति की तरह आर्मी ऑफिसर की यूनिफॉर्म पहनकर दुश्मनों से जंग करने के लिए तैयार हैं.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it