Begin typing your search...

Election in Uttarakhand: उत्तराखंड में 14 फरवरी को डाले जाएंगे वोट, क्या है गाइडलाइन्स, देखिए- पूरा शेड्यूल

उत्तराखंड में चुनाव उत्तराखंड की 70 विधानसभा सीटों पर 14 फरवारी को चुनाव मतदान किया जाएगा.

Election in Uttarakhand: उत्तराखंड में 14 फरवरी को डाले जाएंगे वोट, क्या है गाइडलाइन्स, देखिए- पूरा शेड्यूल
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Election in Uttarakhand : चुनाव आयोग (Election Commission) ने उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर के विधानसभा चुनाव (Assembly Election) की तारीखों का शनिवार को औपचारिक ऐलान कर दिया है. इन पांचों राज्यों में 690 विधानसभाओं में चुनाव होने हैं. 18.34 करोड़ मतदाता वोट डालेंगे. 7 फेज़ में चुनाव किए जाएंगे. पंजाब और उत्तराखंड में एक ही फेज़ में चुनाव होंगे.

उत्तराखंड में चुनाव उत्तराखंड की 70 विधानसभा सीटों पर 14 फरवारी को चुनाव मतदान किया जाएगा. 10 मार्च को पांचों राज्यों के वोटों की काउंटिग की जाएगी.

नोटिफ़िकेशन जारी करने की तारीख- 21 जनवरी २०२२


नामांकन भरने की आखिरी तारीख- 28 जनवरी 2022

नामांकन पत्रों की जांच की आखिरी तारीख- 29 जनवरी 2022

नाम वापस लेने की आखिरी तारीख- 31 जनवरी 2022 म

तदान- 14 फरवरी 2022

वोटों की गिनती- 10 मार्च 2022

चुनाव आयोग ने यह भी कहा कि उत्तराखंड में 99.6 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक लग चुकी है और 83 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन की दूसरी खुराक दी जा चुकी है. उन्होंने कहा कि मतदाताओं की सुरक्षा उनकी प्राथमिकता है.

उत्तराखंड के चुनावी समीकरण 70 सीटों वाली उत्तराखंड विधानसभा का कार्यकाल 23 मार्च 2022 को खत्म हो रहा है. लेकिन, सूबे में सियासी हलचल तेज है. यहां कांग्रेस, बीजेपी के साथ-साथ आम आदमी पार्टी, बसपा और छोटे-छोटे कई दल अपनी किस्मत आजमाने वाले हैं.

हालांकि, बीजेपी के लिए उत्तराखंड चुनाव सबसे ज्यादा चुनौती पूर्ण बना हुआ है, क्योंकि यहां दो दशक से हर पांच साल पर सत्ता बदलने की परंपरा चली आ रही है. ऐसे में कांग्रेस पूरी उम्कोमीद कर रही है कि वह सत्ता में वापस आए. वहीं, बीजेपी सत्ता परिवर्तन के मिथक को तोड़ने में जुटी है. उत्तराखंड में 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में, बीजेपी ने 57 सीटें जीतीं और प्रचंड बहुमत के साथ अपनी सरकार बनाई थी. जबकि विपक्षी दल कांग्रेस को 11 सीटें ही मिल सकी थीं. तब त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री बने थे, लेकिन चार साल के बाद ही उन्हें हटाकर बीजेपी ने तीरथ सिंह रावत को सत्ता की कमान सौंपी. लेकिन कुछ ही महीनों में तीरथ सिंह रावत की जगह पुष्कर सिंह धामी को उत्तराखंड का मुख्यमंत्री बनाया गया.


Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it