Top
Begin typing your search...

बंगाल भाजपा ने माना अनेक सांसद और विधायक छोड़ सकते हैं पार्टी

बंगाल भाजपा ने माना अनेक सांसद और विधायक छोड़ सकते हैं पार्टी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बंगाल भाजपा के अध्यक्ष डरे हुए हैं. उन्हें इस बात की आशका है कि मुकुल राय के भाजपा छोड़ने के बाद अनेक सांसद व विधायक पार्टी छोड़ कर तृणमूल कांग्रेस ज्वॉइन कर सकते हैं.

पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा- "वे लोग कोई मवेशी नहीं हैं जिन्हें हम रस्सी से बांध कर रखें. वह ( मुकुल राय) एक पार्टी में थे. वह उस पार्टी के लोगों से सम्पर्क में थे. हां हम इतना जरूर कह सकते हैं कि जो भाजपा के विचारों से सहमत हैं वे हमें धोखा नहीं देंगे."

पत्रकारों ने उनसे पूछा था कि क्या उत्तरी बंगाल के एक सांसद व आठ विधायक मुकुल राय के पदचिन्हों पर चलते हुए तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं. गौरतलब है कि पिछले दिनों भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल राय ने पार्टी छोड़ कर ममता बनर्जी की पार्टी में शामलि हो गये. मुकुल राय पहले भी टीएमसी में थे और 2017 में भाजपा में आये थे.

उधर तृणमूल कांग्रेस से भाजपा में जो लोग पिछले दिनों आये थे, उनमें से अधिकतर विधायक फिर भाजपा को छोड़ के तृणमूल कांग्रेस में शामलि होने की संभावना प्रबल है. इस बात को खुद भाजपा के अंदरूनी सूत्र स्वीकार करते हैं.

बगधा से भाजपा विधायक विश्वजीत दास ने स्पष्ट कहा है कि मुकुल राय द्वारा पार्टी छोड़ने का प्रभाव पड़ना लाजिमी है. दास खुद पहले तृणमूल कांग्रेस में थे. दास शुक्रवार को भाजपा के संगठन संबंधी मीटिंग में नहीं शामिल हुए थे.

ऐसे में भाजपा के सूत्रों को यह एहसास हो चुका है कि वह भी पार्टी छोड़ने की तैयारी में हैं. भाजपा की बैठक में शामिल नहीं होने वालों में विधायक सुबरता ठाकुर व अशोक किरतानिया के अलावा सांसद शांतनु ठाकुर भी शामिल हैं.

भाजपा से निकल कर टीएमसी में शामिल होने की संभावना जिस अन्य नेता की है वे हैं राजीब बनर्जी. बनर्जी ने भाजपा के टिकट पर दोमजूर से चुनाव लड़ा था लेकिन वह हार गये थे. बनर्जी शनिवार को टीएमसी नेता कुणाल घोष से मुलाकात कर चुके है.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it