Top
Begin typing your search...

पश्चिम बंगाल BJP चीफ की खुली धमकी - '6 महीने में सुधर जाएं ममता दीदी के लोग, नहीं तो हड्डी-पसली तोड़ देंगे'

दिलीप घोष इतने पर भी नहीं थमे। उन्‍होंने कहा- 'अगर इन लोगों ने ज्‍यादा उत्‍पात मचाया तो इन्‍हें श्‍मशान गृह भेज दिया जाएगा।'

पश्चिम बंगाल BJP चीफ की खुली धमकी - 6 महीने में सुधर जाएं ममता दीदी के लोग, नहीं तो हड्डी-पसली तोड़ देंगे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। चुनाव से पहले सत्‍ताधारी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के बीच राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है। ऐसे माहौल में बंगाल बीजेपी अध्‍यक्ष दिलीप घोष ने तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को खुली धमकी दे दी है। रविवार को एक कार्यक्रम में घोष ने कहा, - 'मैं उत्‍पात मचाने वाले ममता दीदी के लोगों से कहना चाहता हूं कि वे अपने आपको 6 महीने के भीतर सुधार लें। नहीं तो उनके हाथ, सिर और पसलियां तोड़ दी जाएंगी। आप लोगों को घर जाने से पहले अस्‍पताल जाना पड़ जाएगा।' दिलीप घोष इतने पर भी नहीं थमे। उन्‍होंने कहा- 'अगर इन लोगों ने ज्‍यादा उत्‍पात मचाया तो इन्‍हें श्‍मशान गृह भेज दिया जाएगा।'

पश्चिम बंगाल प्रमुख के इस बयान पर राज्‍य की राजनीति में सरगर्मी बढ़ गई है। पिछले कुछ महीनों में बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों के बीच टकराव की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। कई कार्यकर्ताओं की हत्‍या की जा चुकी है। पिछले महीने ही दिलीप घोष के काफिले पर वर्धमान जिले में हमला कर दिया गया था। उन्‍होंने तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों पर आरोप लगाया था। हालांकि टीएमसी ने उनके आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था

फेक ट्वीट पर हुआ था विवाद

इससे पहले, फेक ट्वीट किए जाने के एक मामले में दिलीप घोष ने तृणमूल कांग्रेस की सांसद काकोली घोष दस्तीदार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा था कि काकोली ने उनके वक्तव्य को विकृत कर ट्वीट किया है। घोष ने अपने अधिवक्ता को इस मामले में तृणमूल सांसद के खिलाफ मानहानि की कार्रवाई करने को कहा है।‌

3 दिन पहले बंगाल आए थे अमित शाह

बता दें कि अगले साल होने जा रहे विधानसभा चुनाव की तैयारियों में बीजेपी पूरी तरह से जुट गई है। तीन दिन पहले केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने बंगाल में आदिवासी इलाकों का दौरा किया था। इस मौके पर उन्‍होंने मतुआ समुदाय के परिवार के यहां खाना भी खाया था। शाह ने इस दौरान कई वरिष्‍ठ नेताओं से भी मुलाकात की थी।

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it