Begin typing your search...

ये दालें वजन को पिघलाती हैं जैसे सोना, कोलेस्ट्रॉल और शुगर रहता है कंट्रोल

ये दालें वजन को पिघलाती हैं जैसे सोना, कोलेस्ट्रॉल और शुगर रहता है कंट्रोल
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

आपने कई तरह की दालों के नाम तो सुने होंगे. चना, मूंग और अरहर की दाल आमतौर पर हमारे घरों में बनाई जाती है। कुछ दालें ऐसी भी हैं जो ज्यादा लोकप्रिय तो नहीं हैं, लेकिन सेहत के लिए काफी फायदेमंद होती हैं।

इस सूची में चने का नाम भी शामिल है। कुलथी की दाल कई रोगों में लाभकारी मानी जाती है। लाठी दाल प्रोटीन, विटामिन और फाइबर से भरपूर होती है। इसे आहार में शामिल करने से कई समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

वजन कम करना

कुलथी दाल खाने से वजन कम करने में मदद मिलती है। इस दाल में मौजूद पोषक तत्व भूख को कंट्रोल में रखते हैं और वजन घटाने में मदद करते हैं। यह दाल कैलोरी में कम और प्रोटीन में उच्च होती है।

कुलथी दाल खाने से मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है। इसमें फाइबर भी काफी मात्रा में होता है, जो वजन कम करने का काम करता है।

पथरी की समस्या में फायदेमंद

पथरी को रोकने में भी कुलथी दाल कारगर है। कुलथी की दाल खाने से किडनी स्टोन का खतरा कम हो जाता है। कुलथी एक मूत्रवर्धक के रूप में कार्य करता है, जो मूत्र के माध्यम से हानिकारक पदार्थों और गुर्दे की पथरी को निकालने में मदद करता है। विशेषज्ञों का यह भी मानना ​​है कि कुलथी की दाल गुर्दे की पथरी को रोकने में कारगर होती है।

दिल के लिए फायदेमंद

कुल्थी की दाल दिल के लिए भी फायदेमंद मानी जाती है। कुलथी दाल शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करती है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का काम करती है, जिससे दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा कम होता है।

शुगर को नियंत्रण में रखें

कुलथी दाल फाइबर से भरपूर होती है। इसमें मौजूद पोषक तत्व खून में शुगर की मात्रा को कंट्रोल में रखते हैं। कुलथी की दाल खाने से शुगर बढ़ने का खतरा कम हो जाता है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it