Top
Begin typing your search...

छाता खरीदने से पहले जान लें ये बातें?

छाता खरीदने से पहले जान लें ये बातें?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मानसून देश में दस्तक दे चुका है. कब कहां बारिश शुरू जाएगी हमें पता नहीं होता ऐसे में छाता बारिश से बचने के लिए हमारा प्रमुख हथियार होता है. आजकल बाजार में विभिन्न रंग और डिजाइन्स के छाते मौजूद हैं. बारिश के अलावा धूप से बचने के लिए भी छातों का प्रयोग किया जाता है.ऐसे में छाता खरीदते समय इन बातों का ध्यान रखे-

-अक्सर तेज बारिश होने पर तेज हवा भी चलती है जिससे तानें मुड़ जातीं हैं और छाता उल्टा हो जाता है इसलिए छाता खरीदने से पहले तानों की मज़बूती पर अवश्य ध्यान दें.

-यदि आप कामकाजी हैं तो आप फोल्डिंग छाता खरीदें ताकि उसे आप अपने बैग में फोल्ड करके रख सकें और जरूरत पड़ने पर निकाल सकें पर इन्हें लेने से पहले दो तीन बार खोलकर अवश्य देखें।

-हैंडल को भी पकड़कर देखें कि वह आरामदायक है या नहीं ताकि अधिक समय तक पकड़ने में आपको परेशानी न हो।

-बच्चों के लिए हैंड फ्री छाते खरीदें क्योंकि ये सिर पर लग जाते हैं और इन्हें पकड़ना नहीं पड़ता।

-बच्चों के लिए रंग बिरंगे, महिलाओं के लिये चटकीले डिजाइन वाले तो पुरुषों के लिए एक रंग के छाते उपयुक्त रहते हैं।

-बुज़ुर्गों के लिए मूठ वाले गहरे रंग और बड़े आकार के छाते खरीदें ताकि जरूरत पड़ने पर वे इसे बेंत की तरह भी प्रयोग कर सकें।

-बहुत अधिक गहरे रंग का छाता खरीदने से पूर्व दुकानदार से उसके रंग के बारे में पड़ताल अवश्य करें क्योंकि कई बार पानी से छाते का रंग निकलने लगता है जिससे कपड़े भी खराब हो सकते हैं।

यह भी रखें ध्यान

-प्रयोग करने के बाद पानी से भीगे छाते को पूरी तरह सूख जाने पर ही उसके कवर में रखें या निर्धारित स्थान पर टांगें।

-झटके के साथ या जबर्दस्ती खोलने का प्रयास न करें।

-बारिश के बाद छाते को पूरी तरह सुखाकर, साफ कपड़े से पोंछकर, तानों और हैंडल में सरसों का तेल लगाकर उसके कवर में रखें इससे आपके छाते में जंग लगने की संभावना नहीं रहेगी।

-यदि आपके छाते में कोई टूट फूट हो गयी है तो उसे ठीक करवाकर ही रखें इससे आपको अगली बारिश में कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा।



सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it