Top
Begin typing your search...
Home Literary Beauty

You Searched For "Literary Beauty"

वो कब किसके तकिये के नीचे होती......कुछ बोलती राते

वो कब किसके तकिये के नीचे होती......कुछ बोलती राते

राते जो गुनहगार सी लगती हैं। लोगो की करवटों के साथ,...... राते भी कई अनजानों की ज़िंदगियों को पलटती है। हम सबके जीवन में रातो की अपनी अलग- अलग भूमिका ...

इश्क में धोखा और दर्दे दिल अब नहीं होता है किसी पर एतबार

'इश्क में धोखा' और 'दर्दे दिल' अब नहीं होता है किसी पर एतबार

कविता का सौंदर्य ही ऐसा है कि हम हमारी भावनाओं को सामने वाले को अहसास करा देते हैं। हमारी भावनाएं जैसी भी हो वो सामने वाले के हृदय में जन्म ले लेती

Share it