Top
Begin typing your search...
Home delhi breaking news

You Searched For "delhi breaking news"

जब बडे़ उद्योगपतियों का कर्ज माफ हो सकता है तो किसानों का क्यों नहीं?

जब बडे़ उद्योगपतियों का कर्ज माफ हो सकता है तो किसानों का क्यों नहीं?

किसान भगत सिंह दहिया ने आज एक मांग करते हुए कहा है कि जब बडे़ उद्योगपतियों का कर्ज माफ हो सकता है तो किसानों का क्यों नहीं? किसान ही ऐसा वर्ग है...

पृथक पश्चिम प्रदेश का निर्माण समय की सबसे बड़ी आवश्यकता - भगत सिंह वर्मा

पृथक पश्चिम प्रदेश का निर्माण समय की सबसे बड़ी आवश्यकता - भगत सिंह...

सहारनपुर: आज यहां महफूज गार्डन पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा कार्यालय पर एक बैठक को संबोधित करते हुए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष...

राम मंदिर आस्था या आलोचना?

राम मंदिर आस्था या आलोचना?

गौतम सिंह भदौरियाराम मंदिर कभी भी आलोचना का विषय हो ही नही सकता ये सदियों से आस्था का ही विषय रहा है। श्री राम मंदिर अब ये सिर्फ आस्था का ही विषय...

चाल और चेहरा ममता-भाजपा भिड़ंत पर हेडलाइन मैनेजमेंट आखिर क्या है?

चाल और चेहरा ममता-भाजपा भिड़ंत पर हेडलाइन मैनेजमेंट आखिर क्या है?

बैठक में प्रधानमंत्री ने तृणमूल से भाजपा में शामिल हुए शिवेन्दु अधिकारी को भी बुला रखा था जो अभी ममता बनर्जी को हराकर विधायक बने हैं। पहले तृणमूल के...

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के CEO रहे आशीष चौहान, इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय के चांसलर नियुक्त किये गये

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के CEO रहे आशीष चौहान, इलाहाबाद केंद्रीय...

शशांक मिश्रा आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलाधिपति के रूप में आशीष कुमार चौहान को नियुक्त किया है आशीष कुमार चौहान बॉ...

कोविड महामारी ने रोज कमाने खाने वाले लोगों को सबसे ज्यादा नुक़सान पहुंचाया

कोविड महामारी ने रोज कमाने खाने वाले लोगों को सबसे ज्यादा नुक़सान...

वाराणसी : कोविड महामारी ने रोज कमाने खाने वाले लोगों को सबसे ज्यादा नुक़सान पहुंचाया है। कोरोना की वजह से जो हालात पैदा हुए हैं उनमें सबसे बड़ी संकट...

खरीखोटी: दोष आपका नहीं साहेब, हमारे गाँवों में तो विकास पैदा होने से पहले ही दम तोड़ देता है

खरीखोटी: दोष आपका नहीं साहेब, हमारे गाँवों में तो विकास पैदा होने से...

संदीप मिश्र काश ! सत्ता की नज़र समय से हमारे गाँवों पर भी पड़ी होती...तो आज (वैश्विक महामारी के इस दौर में..)की जो दशा और दुर्दशा देखने को मिल रही...

Share it